ताजा मुद्दा

लाल किले से पीएम मोदी का होगा 7वां भाषण, रहेगी इन 7 बातों पर नजर

  • PM Modi 7th Independence Day Address: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को लाल किले से लगातार 7वीं बार देश को संबोधित करेंगे। उनके भाषण में भारत-चीन तनाव, कोरोना समेत 7 बातों का प्रमुखता से जिक्र हो सकता है।

    नई दिल्ली
    पीएम नरेन्द्र मोदी स्वतंत्रता दिवस पर शनिवार को लाल किले से एक बार फिर देश को संबोधित करेंगे। यह उनका लगातार सांतवा भाषण होगा। पीएम मोदी ऐसे समय में लाल किले से देश को संबोधित करेंगे जब देश एक साथ कई मोर्चों पर कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहा है। ऐसे में इस बार पीएम मोदी के भाषण में 7 अहम बातों पर नजर रहेगी।
    1- आयुष्मान योजना पार्ट-2 की होगी शुरूआत?
    प्रधानमंत्री मोदी लाल किले से इस बार स्वास्थ्य जगत की दिशा में एक महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी लाल किले से ‘नैशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’ का ऐलान कर सकते हैं। इसे गरीबों को मिलने वाले मुफ्त इलाज स्कीम आयुष्मान योजना का अगला कदम माना जा रहा है। हालांकि, इस योजना को लेकर प्राइवेसी का मुद्दा फिर उठ सकता है लेकिन सूत्रों के अनुसार इसमें शामिल होना ऐच्छिक होगा। इसके तहत सभी मरीजों का रिकॉर्ड एक जगह सेंट्रल सिस्टम में दर्ज होगा। इसके तहत किसी व्यक्ति की हेल्थ आईडी में उसके तमाम स्वास्थ्य रेकॉर्ड्स, इलाज करने वाले डॉक्टर और तमाम दूसरी जानकारी रहेगी। हेल्थ रेकॉर्ड संबंधित व्यक्ति की मंजूरी के बाद ही शेयर किया जाएगा। दरअसल कोरोना संकट के समय स्वास्थ्य मुद्दा आम लोगों के सामने पहली बार इस तरह बड़े पैमाने पर सामने आया है।

2- चीन पर क्या होगा जवाब
चीन के साथ सीमा विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा है। भारत की ओर से आक्रामक रुख अपनाने के बावजूद चीन पीछे नहीं हटा है। पीएम मोदी चीन के मामले में अब तक मिश्रित रुख दिखा चुके हैं। लेह जाकर चीन को मोर्चे से सख्त अंदाज में संदेश दे चुके हैं तो कभी बातचीत से मामला सुलझाने की नीयत भी दिखा चुके हैं। उधर विपक्ष खासकर राहुल गांधी लगातार चीन के मसले पर सरकार पर हमलावर हैं। उम्मीद है कि लाल किले से पीएम मोदी चीन पर स्पष्ट संदेश दे सकते हैं

3- जम्मू-कश्मीर पर क्या रहेगा स्टैंड
जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाने के बाद पीएम मोदी का लाल किले से यह दूसरा भाषण है। पिछली बार लाल किले से पीएम मोदी ने एक और सालों पुरानी मंग ‘एक देश,एक विधान’ को पूर्ण होने के करीब बताया था। धारा 370 को हटाने के संदर्भ में बात करते हुए पीएम मोदी ने एक देश एक संविधान की बात की। लेकिन एक साल बाद अब वहां के हालात के बारे में पीएम मोदी क्या साेचते हैं, उससे भी आगे का रोडमैप रख सकते हैं। हाल ही में वहां मनोज सिन्हा के एलजी के रूप में नियुक्ति के बाद वहां राजनीतिक प्रक्रिया शुरू होने की संभावना व्यक्त की जा रही है

4- कोविड से आगे की लड़ाई कैसे लड़ी जाएगी
भारत अभी न सिर्फ सदी की सबसे बड़ी महामारी से जूझ रहा है बल्कि आर्थिक मंदी के भी सदी के सबसे निचले स्तर पर आने की आशंका व्यक्त की जा रही है। सरकार इन दोनों मोर्चों पर आगे किस तरह बढ़ेगी, इस बारे में भी

5- देंगे 6 सालों के कामकाज का हिसाब?
वहीं दूसरे टर्म के दूसरे स्वतत्रंता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के सामने 6 सालों का रिपोर्ट कार्ड पेश कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार पीएमओ ने सभी मंत्रालयों से दूसरे टर्म में उनकी ओर से किए गए तीन अहम काम और उनसे जनता को किस तरह सीधा लाभ पहुंचा या आने वाले दिनों में उसका लाभ मिल सकता है, इसकी लिस्ट देने को कहा था। इस बार हालात को देखते हुए सरकार की ओर से किसी नये प्रॉजेक्ट के ऐलान की संभावना नहीं है। अमूमन लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री कुछ नई योजनाओं का ऐलान करते रहे हैं।

6- आगे का अजेंडा अब क्या?
पिछले एक साल के अंदर बीजेपी और मोदी सरकार के कुछ बड़े अजेंडा पूरे हो चुके हैं। धारा 370 को हटाने से लेकर राम मंदिर के निर्माण तक की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसके बाद यह सवाल उठ रहा है कि आगे का अजेंडा क्या होगा। पिछली बार लाल किले से ही पीएम माेदी ने संकेत दिया था कि जनसंख्या नियंत्रण अब अगला अजेंडा हो सकता है। इस बार क्या इन मुद्दों पर पीएम मोदी कुछ आगे का संकेत देेंगे या नहीं इसका खुलासा शनिवार को हो सकता है।

7- पड़ोसी देशों से संबंध?
वहीं लाल किले से पीएम मोदी पड़ाेसी देशों से भारत के संबंधों के बारे में बात कर सकते हैं। पाकिस्तान के साथ भारत के रिश्ते हाल में खराब रहे ही हैं,नेपाल से भी पिछले कुछ दिनों में तल्खी बढ़ी है। ऐसे में भारत पडोसी देशों को लाल किले से संदेश दे सकते हैं पीएम मोदी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *