खबर खास

सुखद संयोग : एक ही दिन पड़ रही छोटी और बड़ी दिवाली

ग्वालियर | दिवाली पर इस बार एक बड़ी खगोलीय घटना होने जा रही है। इस बार चार दिन में आठ पर्व पड़ रहे हैं। ऐसा पूरे पांच दशक बाद होने वाला है। खास बात यह है कि छोटी और बड़ी दीवाली के पर्व एक ही दिन पड़ रहे हैं।

50 साल बाद चार दिन में होंगे आठ महापर्व|वर्ष में केवल एक बार पांच दिनी पर्व एक साथ आते हैं। इस बार ऐसा नहीं होगा। इस बार चार दिन में ही न केवल पांच दिनी पर्व पड़ेंगे बल्कि, चार दिनों में आठ पर्व भी पड़ेंगे। 26 अक्तूबर को यम दीपक, हनुमान जयंती और धनवंतरी जयंती के तीन पर्व एक दिन पड़ रहे हैं। 

27 अक्तूबर रविवार को छोटी दीवाली यानी नरक चतुर्दशी और दीपावली महालक्ष्मी पूजन के दो बड़े पर्व पड़ेंगे। 28 अक्तूबर सोमवार को सोमवती अमावस्या का लक्खी स्नान होगा। इसी दिन गोर्वधन पूजा और अन्न कूट पर्व पड़ रहे हैं।
29 अक्तूबर मंगलवार को भैयादूज का बड़ा पर्व पड़ेगा। इस प्रकार शनिवार से मंगलवार तक चार दिनों में आठ पर्व पड़ रहे हैं। भारतीय संस्कृत का यह अनोखा पर्व होगा। मिश्रपुरी के अनुसार चंद्रमा और सूर्य की गति बदलने और नक्षत्रों के कारण त्योहारों में परिवर्तन होता है।
दीपावली पर भी यही बात सामने आ रही है। डॉ. मिश्रपुरी ने बताया कि प्रतिपदा तिथि का लोप हो जाएगा। लौकिक बोलचाल की भाषा में छोटी और बड़ी दीपावली का पूजन एक साथ होना भी बड़ी घटना है। इसी कारण देवताओं और पितरों की पूजा तथा उनके निमित्त दीपदान भी एक ही दिन हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *