ताजा मुद्दा मनोरंजन

अमजोन और फ्लिपकार्ट के खिलाफ जाँच के आदेश

ग्वालियर। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने दिल्ली व्यापार महासंघ की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए आयोग के महानिदेशक को अमज़ोन और फ्लिपकार्ट द्वारा अपनाई जा रही अस्वस्थ व्यापारिक पद्धति और व्यापारी संघ द्वारा लगाए गए गम्भीर आरोपों की जाँच का आज आदेश दिया है ।

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) जो पिछले 3 महीने से देश भर में अमज़ोन और फ्लिपकार्ट के ख़िलाफ़ एक ज़बरदस्त राष्ट्रीय आंदोलन चला रहा है ।

  1. कैट के मध्यप्रदेश अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र जैन ने आयोग के इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि देश के 7 करोड़ व्यापारी इस बहुप्रतिक्षित आदेश की काफ़ी लम्बे समय इस इंतज़ार कर रहे थे । आयोग द्वारा महानिदेशक को स्पष्ट आदेश दिया जाना की दोनों कम्पनियों द्वारा लागत से भी कम मूल्य पर माल बेचा जाना, भारी डिस्काउंट देना, अपने चहेते विक्रेताओं से ही माल बिकवाना, अपने पोर्टल पर एक्सक्लूसिव उत्पाद बेचना , बाज़ार में क़ीमतों को प्रभावित करना जैसे अनैतिक व्यापारिक सिस्टम की भी गहराई से जाँच होनी चाहिए । उन्होंने कहा की आयोग की जाँच दोनों कम्पनियों को बेनक़ाब करेगी ।
    श्री जैन ने यह भी कहा की इन दोनों कम्पनियों द्वारा सरकार को ज़ीएसटी एवं आय कर का बड़ा चूना लगाया जा रहा है। जिसको लेकर कैट बहुत जल्द वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण से मिलेगा और इस मुद्दे पर भी सरकार से जाँच करने की माँग की जाएगी ।
    श्री जैन ने स्पष्ट तौर पर कहा कि या तो दोनों कम्पनियाँ एफ़डीआई पॉलिसी का अक्षरश पालन करें अथवा भारत के बाज़ार से अपना बोरिया बिस्तर बांध लें । हम किसी भी क़ीमत पर भारत में अब किसी दूसरी ईस्ट इंडिया कम्पनी को नहीं पनपने देंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *