धर्म-समाज

श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा में विराजमान बाबा बर्फानी के पहले दर्शन करने के लिए हो जाएं तैयार

  • श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा में विराजमान बाबा बर्फानी के पहले दर्शन करने के लिए तैयार हो जाएं। पवित्र गुफा में सुबह-शाम दिव्य आरती शुरू होने जा रही है, जिसका पहली बार दूरदर्शन पर प्रसारण होगा। श्रद्धालु घर बैठे पवित्र हिमलिंग के दर्शन कर पाएंगे।

    जम्मू | हर-हर महादेव के जयघोष, मंत्रोच्चारण व घंटियों की गूंज के बीच श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा में विराजमान बाबा बर्फानी के पहले दर्शन करने के लिए तैयार हो जाएं। पांच जुलाई, रविवार से पवित्र गुफा में सुबह-शाम दिव्य आरती शुरू होने जा रही है, जिसका पहली बार दूरदर्शन पर प्रसारण होगा। श्रद्धालु घर बैठे पवित्र हिमलिंग के दर्शन कर पाएंगे। दिल्ली दूरदर्शन पर सुबह छह बजे व शाम सात बजे लाइव प्रसारण होगा। श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ने दूरदर्शन के साथ मिलकर प्रबंध कर लिए हैं। कोरोना की चुनौतियों के बीच श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने अभी यात्रा शुरू करने को लेकर तिथि की घोषणा तो नहीं की है, लेकिन प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं।हर साल छड़ी मुबारक का नेतृत्व करने वाले श्रीनगर में दशनामी अखाड़े के महंत देंपेंद्र गिरि जी महाराज व्यास पूर्णिमा पर पांच जुलाई को लिद्दर नदी किनारे पूजा अर्चना करेंगे। लॉकडाउन के कारण श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड जम्मू कार्यालय में प्रथम पूजा कर चुका है। पहले यह पूजा चंदनवाड़ी में होती थी। जम्मू में बोर्ड कार्यालय में हुई पूजा में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बिपुल पाठक, श्री अमरनाथ और बाबा बुड्ढा अमरनाथ यात्री न्यास के पदाधिकारियों ने भाग लिया था।
    पवित्र गुफा पर प्रबंधों को दिया अंतिम रूप 
    पहले यात्रा 23 जून, 2020 से शुरू होनी थी। एक अप्रैल से एडवांस पंजीकरण किया जाना था। कोरोना से उपजे हालात और लॉकडाउन को देखते हुए श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ने यात्रा निर्धारित तिथि से शुरू नहीं कर एडवांस पंजीकरण को स्थगित कर दिया। यात्रा शुरू करने की तैयारियां चल रही हैं, लेकिन कब शुरू होगी इसे लेकर असमंजस बना है। बोर्ड के आदेश पर प्रशासन नियमित तौर पर प्रबंध कर रहा है। श्री अमरनाथ जी की पवित्र गुफा पर प्रबंधों को अंतिम रूप दे दिया है। यात्रा मार्गों पर बर्फ हटाने का काम तेजी से जारी है। यात्रा तीन अगस्त को रक्षाबंधन वाले दिन संपन्न होगी। श्राइन बोर्ड की बैठक छह जुलाई को होनी तय है जिसमें यात्रा शुरू करने की तारीख, पंजीकरण पर स्थिति स्पष्ट कर दिया जाएगा।
    सीआरपीएफ और पुलिस बल तैयार
    यात्रा की सुरक्षा का जिम्मा सीआरपीएफ, जम्मू कश्मीर पुलिस, प्रशासन के पास होता है। सीआरपीएफ के विशेष महानिदेशक जुल्फिकार हसन ने कहा है कि बाबा अमरनाथ यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं। वह जम्मू कश्मीर प्रशासन के फैसले का इंतजार कर रहे है। यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए हम पूरी तरह से तैयार है। वहीं दूसरी तरफ जम्मू कश्मीर पुलिस के छह अधिकारियों की सेवाएं श्री अमनाथ जी श्राइन बोर्ड को सौंपी गई है। यात्रा के लिए निर्धारित कैंपों में इन अधिकारियों की तैनात की जाएगी।
    हर श्रद्धालु का होगा कोरोना टेस्ट
    यात्रा के लिए आने वाले हर श्रद्धालु का कोरोना टेस्ट होगा। टेस्ट की रिपोर्ट जल्द लाने की कोशिश होगी। विचार किया जा रहा कि यात्रा के लिए 55 साल के कम आयु के भक्तों को ही अनुमति मिले। श्रद्धालुओं का कोरोना टेस्ट करने के लिए विशेष प्रबंध किए जाएंगे। जम्मू कश्मीर के प्रवेशद्वार लखनपुर के सिवाए तय नहीं किया कि क्वारंटाइन टेस्ट कहां बनेंगे। बाहर से यात्री कैसे पहुंचेंगे और क्या श्रद्धालुओं की गाडिय़ों को आने की इजाजत होगी या जम्मू कश्मीर सड़क परिवहन बसों से ही उन्हेंं आगे लाया जाएगा। हेलीकॉप्टर की बुकिंग को लेकर फैसला नहीं किया गया है।
    21 से शुरू हो सकती है यात्रा
    सूत्रों से जानकारी के अनुसार यात्रा को 21 जुलाई से शुरू होकर तीन अगस्त तक चलेगी। ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था हो सकती है। सीमित संख्या में श्रद्धालुओं को भेजने की व्यवस्था होगी। बाबा अमरनाथ और बाबा बुड्डा अमरनाथ यात्री न्यास के प्रधान पवन कोहली का कहना है कि यात्रा को स्थगित नहीं किया जाना चाहिए। यात्रा चाहे कम दिन की हो, पर जरूर होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *