ताजा मुद्दा

सख्त हुए शिवराज : मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और एसपी से कहा कालाबाजारी नहीं करूँगा बर्दाश्त

मुख्यमंत्री ने कालाबाजारी में पहले हुई एफआईआर और कर्मचारियों अधिकारियों पर हुई निलंबन की कार्रवाई की जानकारी मांगी। उन्होंने कहा कि कब कितने अधिकारी-कर्मचारी सस्पेंड हुए और कितने लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है। उसकी पूरी जानकारी मुझे भेजें, इसके साथ ही कालाबाजारी करने वाले डीलर पर कड़ा से कड़ा एक्शन लें।

भोपाल | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को यूरिया, राशन में कालाबाजारी और खाद्य पदार्थों में मिलावटखोरी को बंद करने के लिए इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। उन्होंने प्रदेश के सभी कलेक्टर और एसपी को चेताते हुए कहा कि इस पर तत्काल रोक लगाएं। उन्होंने कहा कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कालाबाजारी में पहले हुई एफआईआर और कर्मचारियों अधिकारियों पर हुई निलंबन की कार्रवाई की जानकारी मांगी। उन्होंने कहा कि कब कितने अधिकारी-कर्मचारी सस्पेंड हुए और कितने लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है। उसकी पूरी जानकारी मुझे भेजें, इसके साथ ही कालाबाजारी करने वाले डीलर पर कड़ा से कड़ा एक्शन लें। सीएम ने कहा कि मैं इस पूरे मामले को गंभीरता से ले रहा हूं। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

अधिकारियों को धाराएं बताई और कार्रवाई करने को कहा

राशन और खाद्य में कालाबाज़ारी शून्य होनी चाहिए। जो कालाबाजारी कर रहे हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें, जिससे लोगों को परेशानी नहीं आए। सीएम शिवराज ने अधिकारियों को धाराएं बताकर कहा कि कालाबाज़ारी करने वालों के खिलाफ इन धाराओं पर कार्रवाई करें। अपराधियों पर मुक़दमे और वाहन राजसात किए जाएं। सीएम ने बैठक में ईओडब्ल्यू के अधिकारियों को भी बुलाया था।

कालाबाजारी रोकने के लिए तकनीक का इस्तेमाल करें
भविष्य के लिए खाद्य की एडवांस व्यवस्था करने के लिए काम करें। हमने सिस्टम ठीक कर दिया था। खाद्य की कालाबाजारी समाप्त हो गई थी। लेकिन अब फिर से यही हो रहा है। इसे रोकने के लिए तकनीक का उपयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *