अपराध सिटी न्यूज़

रक्षक ही भक्षक : तीन साल तक बहन की आबरू लूटता रहा कॉन्स्टेबल, अब दे रहा जान से मारने की धमकी

  • मध्य प्रदेश में पुलिस कॉन्स्टेबल ने एक छात्रा को बहला-फुसलाकर उसका शारीरिक शोषण किया। वह पहले उसे बहन बनाकर अपने घर ले आया और फिर तीन साल तक उसकी आबरू से खेलता रहा। उसे बिन ब्याही मां तक बना डाला, जबकि कॉन्स्टेबल पहले से शादीशुदा है। छात्रा ने जब इसकी शिकायत की तो अब उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है।    

    छतरपुर। महिलाओं की सुरक्षा व उत्पीड़न रोकने की जिम्मेदारी जिस पुलिस विभाग के पास है, वही पुलिस रक्षक की बजाय भक्षक बनती जा रही है। एमपी के छतरपुर जिले में ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें शादीशुदा पुलिस कॉन्स्टेबल ने एक छात्रा को बहला-फुसलाकर उसके साथ बलात्कार किया। कॉन्स्टेबल तीन साल तक छात्रा का शारीरिक शोषण करता रहा और जब वह बिन ब्याही मां बन गई, तब उसे जान से मारने की धमकियां दे रहा है। पीड़ित छात्रा आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर एसपी ऑफिस के चक्कर लगा रही है, लेकिन मामला पुलिस विभाग से जुड़ा होने के कारण उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही।
    छतरपुर पुलिस लाइन में पदस्थ कॉन्स्टेबल 2016-17 में टीकमगढ़ जिले की रहवासी छात्रा के संपर्क में आया था, जब वो महाराजा कॉलेज में पढ़ने आई थी। पीड़िता ने बताया कि कॉन्स्टेबल शुरुआत में उसे अपनी बहन मानता था। वह नौकरी दिलाने का झांसा देकर छात्रा को अपने साथ रखने लगा। शुरू में सब कुछ ठीक था, लेकिन बाद में कॉन्स्टेबल की नीयत बदल गई। वह उसे अपने साथ पन्ना ले गया जहां उसके साथ कई बार बलात्कार किया। पीड़िता का कहना है कि इस काम में उसकी पत्नी भी उसका सहयोग करती थी। कॉन्स्टेबल की पत्नी भी पुलिस विभाग में है और पन्ना में पदस्थ है। पीड़िता की मानें तो कॉन्स्टेबल ने उसे नहीं बताया था कि वह शादीशुदा है। कॉन्स्टेबल की पत्नी उसके साथ रहती थी, लेकिन वह उसे अपनी भाभी बताता था।
    छात्रा के साथ बलात्कार का यह सिलसिला तीन साल तक चलता रहा। छात्रा गर्भवती हो गई और उसे एक बेटी हुई। इसके बाद उसने कॉन्स्टेबल पर शादी करने का दबाव बनाया तो उसने पत्नी के साथ मिलकर पीड़िता को मार-पीट कर घर से भगा दिया। इसके बाद से उसे लगातार जान से मारने की धमकियां दे रहा है।
    बिन ब्याही मां बनी छात्रा छतरपुर में एसपी ऑफिस के चक्कर लगा रही है। वह आरोपी कॉन्स्टेबल के खिलाफ कई बार लिखित शिकायत कर चुकी है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस मामले में जब छतरपुर के एसपी सचिन शर्मा से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *