वायरल न्यूज़

कांग्रेस के कद्दावर नेता को पुलिस अफसर ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ… और कही ये बड़ी बात

कमलनाथ सरकार में ताकतवर मंत्री रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता जीतू पटवारी को मोदी सरकार पर हमला बोलना भारी पड़ गया। उन्होंने जिन शब्दों का इस्तेमाल किया है उससे उनकी किरकिरी हो रही है। साथ ही आम और खास के अलावा गैर राजनीतिक लोगों के निशाने पर आ गए हैं। वहीं एक पुलिस अफसर ने भी नेताजी को संसदीय भाषा में मर्यादा का पाठ पढ़ा दिया। जानिए क्या है पूरा मामला ?

मोदी सरकार को घेरने के चक्कर में पूर्व मंत्री जीतू पटवारी खुद ही घिर गए और सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए हैं। सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि जीतू ने बेटियों सहित नारी जाति का अपमान किया है। वहीं, पुलिस अधिकारी प्रणव महाजन ने जीतू पटवारी को इस ट्वीट को लेकर कायदे से समझा दिया है।
दरअसल पूर्व मंत्री पटवारी अपने ट्वीट और बयानों को लेकर हमेशा विवादों में रहते हैं। पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमतों को लेकर उन्होंने एक ट्वीट किया। ट्वीट के जरिए उन्होंने मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की। जीतू ने लाइन ऐसी लिखी कि वह लोगों को नागवार गुजरी और शुरू हो गया ट्रोल होने का सिलसिला। सोशल मीडिया पर यूजर्स का कहना है कि जीतू ने बेटियों का अपमान किया है। जीतू इस ट्वीट पर खूब ट्रोल हो रहे हैं। एक पुलिस अधिकारी ने भी उन्हें कायदे से समझा दिया है।
कुछ इस तरह किया ट्वीट
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीटर पर लिखा कि पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हो गई! 1-नोटबंदी, 2-जीएसटी, 3-महंगाई, 4-बेरोजगारी और 5-मंदी। परंतु अभी तक विकास पैदा नहीं हुआ।https://twitter.com/jitupatwari/status/1275733839764217858?s=20 यह उस ट्वीट की लिंक है जिसके बढते विरोध के बाद उसे डिलीट कर दिया गया है | ……और अब पाँच घंटे बाद यानी रात करीब साढ़े 10 बजे एक नया ट्वीट किया गया है| जिसके माध्यम से खेद व्यक्त कर रहे हैं |

पुलिस अधिकारी ने दी नसीहत
सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाले पुलिस अधिकारी प्रणव महाजन ने जीतू पटवारी को इस ट्वीट को लेकर अच्छे से समझा दिया है। उन्होंने जीतू को रिप्लाई करते हुए लिखा कि जीतू पटवारी जी, सरकार की आलोचना करना आपका अधिकार है, लेकिन मेरे अनुसार आपका उदाहरण बहुत ही गलत संदेश देता है कि बेटियां हमारे लिए अप्रिय हैं। आपसे विनम्र निवेदन है कि आप इस ट्वीट को डिलीट करके सही शब्दावली का प्रयोग करके सरकार की आलोचना करें।

लोगों के निशाने पर हैं जीतू
जीतू पटवारी अपने ट्वीट को लेकर ट्रोल हो रहे हैं। ट्विटर यूजर्स इसे लेकर तरह-तरह की बातें लिख रहे हैं। सिंधिया समर्थक भी उन्हें आड़े हाथों ले रहे हैं। राजनीतिक दलों के अलावा महिलाओं को भी इस तरह की शब्दावली रास नहीं आ रही हैं। विभिन्न परिवारों की दादी भी जीतू को इसे बेटियों का अपमान बता रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *