खबर खास

शिवराज का कमलनाथ पर तंज: हनुमान भक्तों के कष्ट हरते हैं, दुष्टों के नहीं

 

5 हजार से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा में हुए शामिल, सिंधिया ने कहा- कमलनाथ सरकार ने तो प्रदेश में 15 महीने पहले ही लॉकडाउन लगा दिया था
सिंधिया ने कहा कि विधायक जब कमलनाथ से मिलने जाते थे तो वे उन्हें घड़ी की तरफ इशारा कर जाने को कह देते थे
पहली बार सिंधिया का ग्वालियर में हुआ जमकर विरोध, काले कपड़े पहनकर आए लोगों को सभा में जाने नहीं दिया
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा अयोध्या में राम मंदिर के लिए हुए भूमिपूजन के दौरान हनुमान चालीसा का पाठ किए जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने तंज कसा है। शिवराज सिंह ने कहा कि जिस दिन शिलान्यास हो रहा था, उस दिन कमलनाथ हनुमान चालीसा करने बैठ गए- संकट कटे मिटे सब पीरा, जो सुमिरे हनुमत बलबीरा। शिवराज ने कहा कि हनुमान जी भक्तों के संकट हरते हैं, दुष्टों के नहीं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने 15 महीने के शासनकाल में गरीबों के हित के लिए चलाई योजनाएं बंद कर दी। किसानों के साथ छल किया। लोग परेशान हो गए। कमलनाथ विधायकों तक का अपमान करने लगे थे। बता दें कि मुख्यमंत्री आज ग्वालियर में फूलबाग मैदान में आयोजित भाजपा के सदस्यता अभियान कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

जीतने के बाद सभी बातें भूल गए और अपनी झोली भरने लगेः सीएम

शिवराज बोले कि जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने और भाजपा ज्वाइन करने पर उन्हें गद्दार बता रहे हैं, गद्दारी तो पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार ने जनता के साथ की है। जिन्होंने वल्लभ भवन से भ्रष्टाचार की नदी सभी ओर बहा दी थी। जनता से चुनाव में विकास के बाद ही करने वाले जीतने के बाद सभी बातें भूल गए और अपनी झोली भरने लगे।

उन्होंने कहा कि कमलनाथ मुख्यमंत्री रहते कभी आम लोगों से नहीं मिले ना ही उन्होंने कभी गांव खेड़े की समस्याओं के बारे में जाना। वे वल्लभ भवन में सिर्फ अपने उद्योगपति मित्रों से ही मिलते थे। कांग्रेस की कारगुजारियों की बदौलत भारतीय जनता पार्टी 27 की 27 सीटें जीतेगी।

कार्यक्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वी.डी. शर्मा ने भी शिरकत की। इस मौके पर शहर के 5 हजार से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ली। इस मौके पर सिंधिया ने भी जमकर पूर्व कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कमलनाथ पर गंभीर आरोप भी लगाए।
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- कांग्रेस के शासन काल में ही लग गया था लॉकडाउन

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने तो 4 महीने पहले लॉकडाउन घोषित किया था। लेकिन प्रदेश में तो उसी दिन लॉकडाउन लागू हो गया था जिस दिन यहां कांग्रेस सरकार बनी और कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वल्लभ भवन में ऐसी योजनाएं बनाई जाने लगी और सौदे होने लगे जिससे आम जनता को परेशानी हो।

कमलनाथ के पास नहीं था समय

सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ की सरकार दिग्विजय सिंह चला रहे थे। ग्वालियर-चंबल संभाग के विधायक जब कमलनाथ से मिलने जाते थे तो वे उन्हें घड़ी की तरफ इशारा कर जाने कह देते थे। सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर-चंबल संभाग के विकास के लिए करोड़ों रुपए के विकास कार्य कराए हैं। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने चंबल एक्सप्रेस-वे जैसे प्रोजेक्ट की शुरुआत कराई है।

सिंधिया बोले कि ग्वालियर चंबल अंचल की 34 में से 26 सीटें जीतकर कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका मिला था। लेकिन, कमलनाथ सरकार की जन आकांक्षाओं पर खरी नहीं उतरी उल्टे जनता के सम्मान को ठेस पहुंचाने लगी ऐसे में सिंधिया परिवार के सदस्य के रूप में मैंने जनता की भावनाओं को ही ध्यान में रखते हुए इस सरकार से समर्थन वापस लिया।

सदस्यता कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं अन्य नेता।
सदस्यता कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं अन्य नेता।
कांग्रेस कर रही विरोध

भाजपा के तीन दिन के सदस्यता समारोह का कांग्रेस विरोध कर रही है। कांग्रेस का कहना है की कोरोना संकट चल रहा है। ऐसे में भाजपा का यह अभियान लोगों की जान को खतरे में डाल सकता है, जिसका विरोध कर रहे है। जिसके चलते एहतियात के तौर पर पुलिस ने आज सुबह कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार किया।

कांग्रेस ने उनके विरोध के लिए तीन स्थानों पर धरना प्रदर्शन का ऐलान किया और सुबह से ही कांग्रेस के नेता वहां पहुंच गए। ऐसे में पुलिस ने इन इलाकों को छावनी बना दिया। कई नेताओं को गिरफ्तार भी किया गया है।

सिंधिया के ग्वालियर दौरे का विरोध कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार ले जाती पुलिस।
सिंधिया के ग्वालियर दौरे का विरोध कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार ले जाती पुलिस।
काले कपड़े में नहीं दिया प्रवेश

कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध को देखते हुए सभा स्थल पर काले कपड़े पहनकर आए लोगों को प्रवेश नहीं दिया गया। रश्मि पवार काले कपड़े पहनकर सिंधिया का विरोध करने पहुंची, उन्हें भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूर्व मंत्री बालेंद्र शुक्ला, भगवान सिंह यादव, पूर्व सांसद रामसेवक सिंह गुर्जर ने भी गिरफ्तारी दी। प्रदेश मीडिया प्रभारी केके मिश्रा प्रदेश ने प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमल नाथ को ग्वालियर में 3000 कांग्रेसी गिरफ्तार होने की जानकारी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *