अपराध खबर खास

ज़िंदा है विकास दुबे कानपुर वाला ? उत्तर प्रदेश की STF हुई सतर्क…अस्पताल में शुरू हुई पूछताछ

ग्रेटर नोएडा से गैंगस्टर विकास दुबे से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, दादरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी का एक पर्चा तेजी से वायरल हो रहा है, जो विकास दुबे के नाम से बनवाया गया था। इसमें हैरानी की बात तो यह है कि यह पर्चा उसी दिन सुबह के समय बनवाया गया था, जिस दिन यानी 10 जुलाई को सुबह विकास दुबे का कानपुर के पास एनकाउंटर हुआ था। मिली जानकारी के मुताबिक, पर्चे पर विकास दुबे के नाम के साथ उसकी आयु 53 वर्ष और निवास स्थान में कानपुर लिखा गया है।

ग्रेटर नोएडा, प्रवीण विक्रम सिंह। कानपुर में हुए एनकाउंटर में 8 पुलिसवालों की हत्या का आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे भले ही 10 जुलाई को एनकाउंटर में ढेर हो गया हो, लेकिन उसके बारे में तकरीबन रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इस कड़ी में अब ग्रेटर नोएडा से गैंगस्टर विकास दुबे से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, दादरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी का एक पर्चा तेजी से वायरल हो रहा है, जो विकास दुबे के नाम से बनवाया गया था। इसमें हैरानी की बात तो यह है कि यह पर्चा उसी दिन सुबह के समय बनवाया गया था, जिस दिन यानी 10 जुलाई को सुबह विकास दुबे का कानपुर के पास एनकाउंटर हुआ था। मिली जानकारी के मुताबिक, पर्चे पर विकास दुबे के नाम के साथ उसकी आयु 53 वर्ष और निवास स्थान में कानपुर लिखा गया है।
वहीं, मामला सामने आते ही पुलिस दादरी अस्पताल पहुंची और उस दिन ओपीडी में पर्चा बनाने वाले स्वास्थ्य कर्मी से पूछताछ की। मामले के सामने आते ही नोएडा एसटीएफ भी चौकन्नी हो गई है। इस बीच दादरी विकास दुबे कानपूर पर्ची कांड में अब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी ने ओपीडी कर्मचारी को थमाया कारण बताओ नोटिस दिया है।

पर्ची प्रभारी को कारण बताओ नोटिस जारी
दादरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ओपीडी पर आकर 10 जुलाई को विकास दुबे के नाम से पर्ची कटवाने वाले मामले के तूल पकड़ने और मामला मीडिया में हाईलाइट होने के बाद केंद्र प्रभारी ने ओपीडी काउंटर पर पर्ची प्रभारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। लिखित जवाब भी मांगा गया है, जबकि पर्ची प्रभारी का कहना है जो मरीज जिस नाम की पर्ची बनवाएगा, वहीं उन्हें बनानी पड़ती है। इसके बाद वही पर्ची मरीज के पास रहती है तो पर्ची हाईलाइट कैसे हुई?
बता दें कि 10 जुलाई को एक व्यक्ति ने दादरी के सामुदायिक केंद्र पर विकास दुबे (53) पता कानपुर का नाम देकर इलाज के लिए पर्ची बनवाई, लेकिन वह बिना दवाई लिए ही चला गया। जो ओपीडी रजिस्टर में भी अंकित है। ओपीडी पर्ची वायरल होने के बाद मामला मीडिया में आने के बाद पुलिस व स्वास्थ्य विभाग मे हड़कंप मच गया। पुलिस ने अस्पताल में जाकर पुछताछ की, वहीं सामुदायिक केंद्र प्रभारी डॉक्टर अमित कुमार ने ओपीडी प्रभारी को विभागीय नोटिस जारी किया है।

संजय दत्त के नाम से भी बन चुकी है पर्ची
यहां पर बता दें कि इससे पहले भी ओपीडी में संजय दत्त मुन्ना भाई मुंबई के नाम से पर्ची बन चुकी है। सामुदायिक केंद्र प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि 5 जुलाई को भी ओपीडी काउंटर से संजय दत्त मुन्नाभाई एमबीबीएस के नाम से पर्ची बनी है।
सामुदायिक केंद्र प्रभारी अमित कुमार के मुताबिक, मामला विकास दूबे कानपुर के अपराधी से जुड़ा हुआ है।ओपीडी प्रभारी को नोटिस जारी कर दिया गया है। स्थानिय कोतवाली प्रभारी शुक्रवार को पुछताछ करके गए थे और एसटीएफ ने भी फोन पर जानकारी ली है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *