खबर खास

सांसद का तंज : प्रधानमन्त्री के राष्ट्र के नाम संबोधन में दिखा “जच” आप भी जानिये क्या है इसका मतलब ?

  • अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहने वाली सांसद महुआ मोइत्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंगलवार रात राष्ट्र के नाम संबोधन पर तीखी टिप्पणी की है।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंगलवार रात राष्ट्र के नाम संबोधन पर तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने तीखी टिप्पणी की है। महुआ ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी के भाषणों में उत्तर कोरिया के पूर्व तानाशाह किम जोंग इल की झलक मिलती है।
    महुआ ने लिखा, ‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन सुना। मुझे उत्तर कोरिया के पूर्व तानाशाह किम जोंग इल की विचाराधारा ‘जच’ याद आ रही है।’ उन्होंने आगे कहा कि ‘जच’ उत्तर कोरिया में शासन की एक कोर विचारधारा है। इसका मतलब है कि एक देश के रूप में उत्तर कोरिया को अलग और दुनिया से कटा हुआ होना चाहिए। इसे पूर्ण रूप से अपनी ताकत पर और देवता तुल्य एक नेता के सलाहों पर निर्भर होना चाहिए। बता दें कि किम जोंग इल 1994 से 2011 तक उत्तर कोरियां के दूसरे बड़े नेता रहे। वे उत्तर कोरिया के मौजूदा तानाशाह किम जोंग उन के पिता थे। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में आत्मनिर्भरता और लोकल प्रोडक्ट के प्रमोशन पर लंबी चर्चा की।

    पीएम ने कहा कि विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि कोरोना जैसे संकट से निपटने का एक ही रास्ता है आत्मनिर्भर भारत। आज एक राष्ट्र के रूप में हम अहम मोड़ पर खड़े हैं। इतनी बड़ी आपदा भारत के लिए एक संदेश व अवसर लेकर आई है। पीएम के इसी बयान के संदर्भ में तृणमूल सांसद ने उनपर निशाना साधा। बता दें कि नदिया के कृष्णनगर से तृणमूल की लोकसभा सांसद महुआ हमेशा विभिन्न मुद्दों पर ट्विटर के जरिए बेबाक राय रखती हैं।


    यह भी पढिये

  • देश में 18 मई से लॉकडाउन 4- इस बार होगा पूरी तरह अलग, पहले बताए जाएंगे नियम और कायदे : मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *